Followers

Sunday, 4 February 2018

शैतान

Image from Google

कुछ सहस्राब्दियों बाद
शैतान को फिर से 
ख़ुराफ़ात सूझी
लेकिन वो जानता था
कि आदम और हौव्वा 
अब भोले नहीं रहे
जो साँप और सेब  के
चक्कर में जाएँ.

वो ख़ुद भी 
शातिर हो चला था
समय के साथ
सो अबकी उसने सोचा
कि 'अक़्ल' तो
अभिशाप कम 
वरदान ज़्यादा
सिद्ध हुई कालान्तर में ;
क्यों इन्सान की
इसी अक़्ल से
एक ऐसा तोहफ़ा
बनवाया जाए
जो साबित हो सके उसका
स्थाई चिरंतन नाश!

इस बार
वो कोई चांस नहीं
लेना चाहता था
सो उसने
ख़ूब सोच समझ कर
प्लास्टिक पैदा कर दिया
और लगा इंतज़ार करने
अपनी योजना के
परवान चढ़ने का
कुटिल मुस्कान के साथ.

बस फिर कुछ ही दशकों में
शनैः शनैः
उसके ज़हरीले दाँत
काले कुरूप होठों से
निकल कर दिखने लगे
मुस्कुराहट फैलती गई...

डेढ़ सदी ख़त्म होते होते
धरती बंजर होने लगी
हवा विषाक्त
समुद्रों, नदियों, झीलों, झरनों
के दम घुटने लगे
मछली, चिड़ियाँ, पशु
बेहिसाब मरने लगे
और अक़्लमंद इंसान
हाँफ़ते खाँसते
सिसकते बिलखते
धरती पर से
समस्त जीवन लुप्त होना
देखता रह गया...

शैतान अट्टहास कर उठा !!




49 comments:

  1. आपने बहुत ही अच्छा लेख लिखा है। छत्‍तीसगढ़ी समाचार और daily news पढ़ने के लिए इस वेबसाइट को देखें। Latest News by Yuva Press India

    ReplyDelete
  2. नमस्ते,
    आपकी यह प्रस्तुति BLOG "पाँच लिंकों का आनंद"
    ( http://halchalwith5links.blogspot.in ) में
    गुरूवार 8 फरवरी 2018 को प्रकाशनार्थ 937 वें अंक में सम्मिलित की गयी है।

    प्रातः 4 बजे के उपरान्त प्रकाशित अंक अवलोकनार्थ उपलब्ध होगा।
    चर्चा में शामिल होने के लिए आप सादर आमंत्रित हैं, आइयेगा ज़रूर।
    सधन्यवाद।

    ReplyDelete
    Replies
    1. "पाँच लिंकों का आनंद" में मेरी पोस्ट शामिल करने के लिए धन्यवाद यादव जी!
      अनुग्रहीत हूँ:)

      Delete
  3. My hindi is not very good, But I did like reading it all .. Good one :)

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thank you dear sir, I'm honored!
      मेरी रचना पढ़ कर और पसंद करके आपने मेरा मान बढ़ाया है, मान साहब:):)

      Delete
  4. अमित जी प्लास्टिक की समस्या को शैतान के माध्यम से बहुत ही खूबसूरती से पेश किया हैं आपने।

    ReplyDelete
    Replies
    1. रचना पसंद करने के लिए घन्यवाद ज्योति जी!

      Delete
  5. Waa sir.... Kya khub bayaan kiya hai!!! Great!

    ReplyDelete
  6. Very nice! The new deadly weapon of Shaitan- Plastic!

    ReplyDelete
  7. Replies
    1. धन्यवाद कविता जी..

      Delete
  8. सच प्लास्टिक अभिशाप है...
    एक शैतानी रूप है ..
    जागरूक प्रस्तुति

    ReplyDelete
    Replies
    1. मेरे विचार की पुष्टि करने के लिए धन्यवाद कविता जी!

      Delete
  9. बहुत बढिया....
    प्लास्टिक को शैतान के रूप में रखा .....वाकई विनाशकारी है ये....
    बहुत सुन्दर...

    ReplyDelete
    Replies
    1. विचार की सम्पुष्टि और मेरी रचना पसंद करने के लिए धन्यवाद सुधा जी!

      Delete
  10. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  11. बहुत ही उम्दा तरीके से कविता को प्रस्तुत किया.
    Inspirational information in hindi

    ReplyDelete
    Replies
    1. स्वागत है आपका साधना जी, प्रस्तुति पसंद करने के लिए धन्यवाद☺

      Delete
  12. ख़ूब सोच समझ कर
    प्लास्टिक पैदा कर दिया
    और लगा इंतज़ार करने
    अपनी योजना के
    परवान चढ़ने का
    कुटिल मुस्कान के साथ.
    पर्यावरण को बचाने की लाख कोशिशें जारी हैं लेकिन परिणाम निल बट्टे सन्नाटा !! गंभीर विषय पर गंभीर लेखन अमित जी !! साधुवाद

    ReplyDelete
    Replies
    1. अफसोस इस बात का है योगेन्द्र भाई जी कि परिणाम अपने यहाँ निल बटे सन्नाटा ही रहेंगे हमेशा..बहरहाल, रचना पसन्द करने के लिए धन्यवाद:)

      Delete
  13. Karwa chauth 2018 date this is karwachauth
    Karwa chauth 2018 in 2018 celebrate this
    karwa chauth kab hai to know when is karwa chauth

    karwa chauth calendar
    In 2018 when is karwa chauth

    ReplyDelete
  14. Good work. thank you for such kind of great information. For More

    ReplyDelete
  15. आपके इस लेख में मुझे बेहद आकर्षित किया है इतना गंभीर और सोचने लायक मुद्दा आपने कितने खूबसूरत शब्दों में बयां किया है, ऐसे विचारों
    की मैं कद्र करता हूं

    ReplyDelete
  16. Wow What a Nice and Great Article, Thank You So Much for Giving Us Such a Nice & Helpful Information, please keep writing and publishing these types of helpful articles, I visit your website regularly.
    chandigarh university pin code

    ReplyDelete
  17. Thank you for such a nice article keep posting, I am a RegularVisitor of your website.
    allahabad high court aro syllabus

    ReplyDelete
  18. You’ve got some interesting points in this article. I would have never considered any of these if I didn’t come across this. Java

    ReplyDelete
  19. This was really one of my favorite website. Please keep on posting. .net

    ReplyDelete
  20. Thank you for such a nice article keep posting, I am a RegularVisitor of your website. Swami vivekananda Quotes

    ReplyDelete
  21. I really thank you for the valuable info on this great subject and look forward to more great posts. Thanks a lot for enjoying this beauty article with me. I am appreciating it very much! Looking forward to another great article. Good luck to the author! All the best. Check out the best satta king game and win large amount of money by investing very less at sattaking. We provide the best satta king game result and charts online.

    ReplyDelete
  22. Excellent And Awesome Post! So Thanks for Sharing This Information Helpful For Me. If also daily check Satta king Results. And Satta King Gali, Deshawar, Faridabad, Ghaziabad and other sattaking Result.

    ReplyDelete
  23. wonderful article. Very interesting to read this article.I would like to thank you for the efforts you had made for writing this awesome article. This article resolved all my queries. If also daily check Satta king Results. And Satta King Gali, Deshawar, Faridabad, Ghaziabad and other sattaking Result.

    ReplyDelete